बाबा साहब डॉ0 आंबेडकर ने भारत के संविधान के शिल्पी के रूप में भारत को लोकतांत्रिक मूल्यों के साथ दुनिया का सिरमौर बनाने का कार्य किया : मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी आज यहां डॉ0 भीमराव आंबेडकर महासभा परिसर में भारतरत्न बाबा साहब डॉॉ भीमराव आंबेडकर की जयंती के अवसर पर आयोजित समारोह में सम्मिलित हुए। उन्होंने इस अवसर पर प्रदेशवासियों को बाबा साहब डॉॉ भीमराव आंबेडकर की जयंती की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज पूरा देश बाबा साहब की पावन जयंती को बड़े उत्साह और उमंग के साथ मना रहा है। सम्पूर्ण विश्व के दबे, कुचले व वंचित वर्ग के लोग बाबा साहब की जयंती के माध्यम से न केवल स्वयं के सम्मान की लड़ाई के लिए बल्कि आने वाली पीढ़ी को उज्ज्वल भविष्य देने के लिए बाबा साहब का स्मरण कर रहे हैं।
इसके पूर्व, मुख्यमंत्री जी ने हजरतगंज स्थित बाबा साहब डॉ0 आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। तत्पश्चात कार्यक्रम स्थल पर पहुंचकर महासभा परिसर में महात्मा बुद्ध तथा बाबा साहब डॉ0 भीमराव आंबेडकर जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बड़े घर में जन्म लेकर बड़ा बनना एक उपलब्धि हो सकती है, लेकिन एक सामान्य परिवार में जन्म लेकर सामाजिक विसंगतियों और कुरीतियों के खिलाफ लड़ते हुए समाज को एक नई प्रेरणा देना महानता की पराकाष्ठा को प्रदर्शित करता है। डॉॉ आंबेडकर ने अपने संघर्षों, बुद्धिमत्ता व सूझबूझ से इस महानता को प्राप्त किया था। उन्होंने भारत के संविधान के शिल्पी के रूप में भारत को लोकतांत्रिक मूल्यों के साथ दुनिया का सिरमौर बनाने का कार्य किया। उन्होंने न्याय, समता और स्वाधीनता की विषय वस्तु के साथ भारतवासियों के मन में नए उत्साह व उमंग का संचार किया।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि यह बाबा साहब की देन है कि लोकतांत्रिक मूल्यों और अधिकारों के साथ 140 करोड़ आबादी वाला भारत ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ के रूप में आगे बढ़ रहा है। बाबा साहब ने देश के संविधान में समता मूलक समाज की स्थापना का संकल्प समाहित किया था। आज यह संकल्प व्यावहारिक धरातल पर उतरता हुआ दिखाई दे रहा है। इसी भाव के साथ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के मार्गदर्शन में देश व प्रदेश में शासन की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ बिना भेदभाव तथा ‘सबका साथ सबका विकास’ के लक्ष्य के साथ जरूरतमंदों को प्रदान किया जा रहा है। प्रत्येक तबके को हर प्रकार की सुविधा और सुरक्षा से संपन्न किया जा रहा है। किसी भी प्रकार की सामाजिक विसंगति और भेदभाव के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करके, उन्हें हर प्रकार का संरक्षण प्रदान किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि यह हमारा सौभाग्य है कि बाबा साहब जिन आदर्शों और मूल्यों के लिए पूरे जीवन लड़ते रहे, उन आदर्शों और मूल्यों पर कार्य करने का अवसर प्राप्त हो रहा है। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में ही बाबा साहब से जुड़े हुए पंच तीर्थों से सम्बन्धित कार्य सम्भव हो सके।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बाबा साहब ने वंचित और दलित वर्ग से कहा था कि शिक्षित बनो और आगे बढ़ो। वह जानते थे कि किसी भी प्रकार की असमानता, अव्यवस्था और अराजकता के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए शिक्षित बनना आवश्यक है। हम सभी को उनके आदर्शों का पालन करना चाहिए। बाबा साहब ने यह भी कहा था कि वह आदि और अन्त में भारतीय रहेंगे। एक भारतीय के रूप में उन्होंने जीवन पर्यंत भारत की सुरक्षा, सम्प्रभुता और अखंडता के लिए कार्य किया। डॉ0 आंबेडकर ने अनेक प्रकार के प्रलोभनों से अलग हटकर पूरी तन्मयता के साथ इस कार्य से जुड़कर अपने अनुयायियों को भी इस हेतु निरन्तर आह्वान किया।

error: Content is protected !!