जी20 देश ऊर्जा दक्षता और सुरक्षा हासिल करने के लिए संयुक्त प्रयासों पर सहमत हैं:श्री आलोक कुमार,सचिव(विद्युत)

बेंगलुरु में पहली एनर्जी ट्रांज़िशन वर्किंग ग्रुप की बैठक में भाग लेने वाले G20 सदस्य देशों ने ऊर्जा सुरक्षा और नए ऊर्जा स्रोतों की विविध आपूर्ति श्रृंखलाओं को प्राप्त करने के लिए प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में सामूहिक प्रयासों पर सहमति व्यक्त की है।उद्घाटन पर पहली ईटीडब्ल्यूजी बैठक के विचार-विमर्श पर मीडिया को जानकारी देते हुए, श्री आलोक कुमार, सचिव, विद्युत मंत्रालय ने कहा कि तकनीकी अंतराल को संबोधित करने के माध्यम से ऊर्जा संक्रमण पर आयोजित तकनीकी सत्र; ऊर्जा परिवर्तन के लिए कम लागत का वित्तपोषण; ऊर्जा सुरक्षा और विविध आपूर्ति श्रृंखलाएं; ऊर्जा दक्षता, औद्योगिक निम्न कार्बन संक्रमण और जिम्मेदार खपत; और फ्यूल्स फॉर फ्यूचर (3F) को सभी सदस्य देशों से बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली। उन्होंने कहा कि सत्रों में रखे गए सुझाव और सिफारिशें आगामी कार्य समूह की बैठकों की नींव रखेंगे और सरकार इन पर काम करेगी। कुल मिलाकर, चार कार्यकारी समूह की बैठकों की योजना बनाई गई है।

प्राथमिकता वाले क्षेत्रों जैसे स्वच्छ ऊर्जा तक सार्वभौमिक पहुंच और न्यायोचित, वहनीय, और समावेशी ऊर्जा संक्रमण पथ पर विचार-विमर्श कल फिर से शुरू होगा।तीन दिवसीय कार्यक्रम की शुरुआत केंद्रीय ऊर्जा और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री आर.के. सिंह केंद्रीय संसदीय कार्य, कोयला और खान मंत्री ने विशेष संबोधन दिया।विश्व बैंक, एशियाई विकास बैंक, संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण  कार्यक्रम (UNEP) और कई अन्य अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के साथ G20 देशों और नौ विशेष आमंत्रित अतिथि देशों सहित 150 से अधिक प्रतिभागी इस कार्यक्रम में भाग ले रहे हैं।

error: Content is protected !!