जगदीश टाइटलर के खिलाफ जीके ने सीबीआई के पास गवाही दर्ज करवाई

नई दिल्ली: 1984 सिख कत्लेआम के आरोपी कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर के खिलाफ गवाही देने के लिए आज केंद्रीय जांच ब्यूरो ने दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के पूर्व अध्यक्ष मनजीत सिंह जीके को नोटिस भेजा था। क्योंकि जीके ने प्रेस कांफ्रेंस करके जगदीश टाइटलर के 5 फरवरी 2018 को 5 स्टिंग वीडियो जारी किए थे। जिसके बाद आज इन स्टिंग वीडियो की आवाज के साथ टाइटलर की आवाज का मिलान करने के लिए सीबीआई ने टाइटलर को बुलाया था। सीबीआई को लिखित गवाही रिकार्ड करवाने के बाद सीबीआई मुख्यालय से बाहर आए जीके ने मीडिया को बताया कि सीबीआई द्वारा डेढ़ घंटे तक मेरे से पूछे गए सवालों के मेरे द्वारा दिए गए जवाबों के बाद मुझे अब तसल्ली है कि जगदीश टाइटलर जेल जरुर जाएंगा। सीबीआई ने मुझसे पूछा कि इन स्टिंग वीडियो के बारे में आपको क्या जानकारी है ? जिस पर मैंने इन वीडियो में शामिल जरुरी तथ्यों के बारे में विस्तार से सीबीआई के एसएसपी साहब को बताया है।
जीके ने कहा कि अपनी वीडियो में टाइटलर ने 100 सिखों को मारने की बात कबूली थी। साथ ही हाईकोर्ट में कई जज लगवाने तथा अपने बेटे की कंपनी के स्विस बैंक के खातों में करोड़ों रुपए जमा होने का दावा किया था। जिस पर मैंने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद दिल्ली पुलिस और सीबीआई को शिकायत दी थी। इसके साथ ही इस वीडियो में नजर आ रहे रविंद्र चौहान ने मुझसे संपर्क किया था और तब दिल्ली कमेटी दफ्तर में आकर रविंद्र चौहान ने मीडिया के सामने माना था कि इस वीडियो में वो खुद है, तथा यह सब बातें मेरे सामने टाइटलर ने कही थी। इसलिए यह सारे तथ्य मैंने सीबीआई के अधिकारियों के सामने रख दिए। इसलिए मुझे लगता है कि यह सारे तथ्य टाइटलर को सिखों का कातिल साबित करने के लिए काफी है। अब सीबीआई इस मामले में क्या कार्रवाई करती है, यह महत्वपूर्ण है।
error: Content is protected !!