भाजपा अपने सांसदों के खराब प्रदर्शन और हार के डर से प्रत्येक चुनाव में प्रत्याशी बदल जनता को गुमराह करती है-अरविंदर सिंह लवली

नई दिल्ली

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री अरविंदर सिंह लवली ने चुनाव आयोग द्वारा लोकसभा चुनावों की तारीख की घोषणा के बाद मांग की कि भाजपा को दिल्ली के लोगों को बताएं कि पिछले दस वर्षों में उसके सांसदों ने दिल्ली में कितने और किस तरह के विकास कार्य किए हैं। क्योंकि पिछले 10 वर्षों में भाजपा सांसद जनता के बीच से गायब रहे है, यही कारण भाजपा ने लगभग सभी उम्मीदवारों को बदल दिया है।

श्री अरविन्दर सिंह लवली ने कहा कि दिल्ली कांग्रेस ने गत माह के दौरान हर जिले में आयोजित जवाब दो-हिसाब दो, प्रतिज्ञा रैली में भाजपा से पूछा था कि क्या उसके सांसदों ने पिछले दस वर्षों में कोई रचनात्मक कार्य किया है? जबकि भाजपा के किसी भी सांसद ने अपने निर्वाचन क्षेत्र के फंड का पूर्णतः उपयोग भी नहीं किया। सार्वजनिक परिवहन प्रणाली में सुधार करने, वायु और जल प्रदूषण को खत्म करने, नए स्कूल, कॉलेज और अस्पताल बनाने, प्रधानमंत्री द्वारा स्वच्छ भारत अभियान को लागू करने के लिए केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा दबाव डालने के बावजूद एमसीडी में भाजपा सत्ता के शासन में कूड़े के पहाड़ों को कम करने के लिए, टूटी सड़कों की मरम्मत जैसे जनता के हित के विषयों पर एक भी काम नही किया।

श्री लवली ने कहा कि पिछले दो लोकसभा चुनावों में लगभग हर बार नए चेहरों को लाने के लिए भाजपा ने अपने मौजूदा सांसदों के साथ म्यूजिकल चेयर का गेम खेलती है जिसका स्पष्ट प्रमाण है कि उनके सांसदों ने दिल्ली के बुनियादी ढांचे, जिनमें स्कूल, कॉलेज, अस्पताल आदि शामिल हैं, इनमें न तो सुधार किये है बल्कि राजधानी के विकास को अहम भूमिका नही निभाई है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने लगातार अपने सांसदों को दोहराने की बजाय पिछले दो लोकसभा चुनावों में नए चेहरों को उतारकर दिल्ली की जनता का मजाक बना दिया है।

श्री लवली ने कहा कि दिल्लीवासी भाजपा के धोखे को समझ चुके है और आने वाले लोकसभा चुनावों में वे भाजपा के उम्मीदवारों को पूरी तरह नकार देंगे और कांग्रेस और सहित इंडिया गठबंधन के उम्मीदवारों को विजयी बनाऐंगेक्योंकि भाजपा सांसदों ने दिल्ली के लोगों के लिए कुछ नहीं किया है। उन्होंने कहा कि जब कोविड-19  महामारी के दौरान दवाओंमेडिकल ऑक्सीजनअस्पताल के बिस्तरों और एम्बुलेंस की कमी के कारण हजारों की संख्या में लोगों की मौत हुई थी तब दिल्ली में भाजपा सांसदों ने लोगों के दुख को कम करने में कोई भूमिका नहीं निभाई। उन्होंने कहा कि लोग महंगाईबेरोजगारीटूटी सड़कोंकूड़े के ढेर और कई अन्य अस्तित्व संबंधी समस्याओं से परेशान हैं। यह चिंताजनक है कि भाजपा सांसदों ने लोगों के कल्याण के लिए अपनी सांसद निधि से पिछले 10 वर्षों में कुछ भी खर्च नहीं किया है।

error: Content is protected !!