अरुणाचल में सेना का चीता हेलिकॉप्टर क्रैश, मलबा मिला, दोनों पायलट्स की तलाश जारी

अरुणाचल प्रदेश में गुरुवार को इंडियन आर्मी का चीता हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, हेलिकॉप्टर मंडला हिल्स इलाके में क्रैश हुआ है। इसमें लेफ्टिनेंट कर्नल और मेजर रैंक के अधिकारी सवार थे। इनकी तलाश के लिए ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

डिफेंस गुवाहाटी के PRO लेफ्टिनेंट कर्नल महेंद्र रावत ने न्यूज एजेंसी को बताया कि आर्मी एविएशन का चीता हेलिकॉप्टर अरुणाचल प्रदेश के बोम्डियाल के पास ऑपरेशनल उड़ान पर था। इसी दौरान सुबह 9:15 बजे इसका एयर ट्रैफिक कंट्रोल (ATC) से संपर्क टूट गया था।

गांव के लोगों ने पुलिस को क्रैश की जानकारी दी
अरुणाचल प्रदेश पुलिस ने बताया- दोपहर करीब 12.30 बजे बंगजालेप, दिरांग थाने के ग्रामीणों ने बताया कि एक हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हुआ है। सेना, एसएसबी और पुलिस की सर्च और बचाव टीम मौके के लिए रवाना हो चुके हैं। अभी तक कोई फोटो सामने नहीं आई है, क्योंकि क्षेत्र में कोई सिग्नल नहीं है। वहीं, कोहरे के चलते दृश्यता भी 5 मीटर है।

पिछले साल अरुणाचल प्रदेश में मिलिट्री हेलिकॉप्टर क्रैश में ही पांच की मौत हुई थी
इससे पहले 21 अक्टूबर 2022 को अरुणाचल प्रदेश के सियांग जिले में मिलिट्री हेलिकॉप्टर ‘रुद्र’ क्रैश हो गया था। हादसा टूटिंग हेडक्वार्टर से 25 किलोमीटर दूर सिंगिंग गांव के पास हुआ था। हादसे में पांच की मौत हुई थी। रुद्र सेना का अटैक हेलिकॉप्टर है। इसे हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ( HAL) ने भारतीय सेना के लिए बनाया है। यह हल्के ध्रुव हेलिकाप्टर का वेपन सिस्टम इंटीग्रेटेड (WSI) Mk-IV संस्करण है।

5 अक्टूबर को तवांग में चीता हेलिकॉप्टर हुआ था क्रैश पिछले साल ही 5 अक्टूबर को अरुणाचल प्रदेश के तवांग इलाके में आर्मी का एक चीता हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया था। हादसा सुबह करीब 10 बजे हुआ था। हेलिकॉप्टर में दो पायलट सवार थे। हादसे के बाद दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। उनमें से लेफ्टिनेंट कर्नल सौरभ यादव ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था।

12 अक्टूबर को गोवा में नौसेना का विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ
12 अक्टूबर को भारतीय नौसेना का मिग 29-K लड़ाकू विमान क्रैश हो गया था। नौसेना ने इसकी जानकारी दी थी कि विमान के पायलट सुरक्षित थे और हादसा तकनीकी खराबी की वजह से हुआ था। नौसेना की तरफ से जारी बयान में बताया गया था कि गोवा से समुद्र के ऊपर नियमित उड़ान भर रहे MiG 29K में वापसी के दौरान तकनीकी खराबी आ गई।

पिछले साल फरवरी में भी सेना का हेलिकॉप्टर क्रैश हुआ था
इससे पहले फरवरी में तेलंगाना के नलगोंडा जिले में सेना का एक हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया था। उस हादसे में दो पायलट शहीद हो गए थे। वहीं चीता और चेतक जैसे हल्के हेलीकॉप्टर, जिसे भारतीय सेना के जवान इस्तेमाल करते हैं, जो काफी पुराने हो चुके है। इनके स्थान पर दूसरे हाईटेक हेलीकॉप्टर को लाने की मांग लंबे समय से की जा रही है।

error: Content is protected !!