अमृतपाल का ISI कनेक्शन, आनंदपुर खालसा फोर्स नाम से प्राइवेट आर्मी बना रहे थे, घर और हथियारों पर AKF लिखा मिला

पंजाब में खालिस्तान समर्थक और ‘वारिस पंजाब दे’ संगठन के प्रमुख अमृतपाल की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार दूसरे दिन भी राज्य में अभियान छेड़े हुए है। इधर, जालंधर रेंज के DIG स्वप्न शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमृतपाल के पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI से कनेक्शन का खुलासा किया है। ऐसे में अब इस केस में NIA की एंट्री हो सकती है।

इधर, पुलिस ने एक और खुलासा किया है। पुलिस के मुताबिक, अमृतपाल ने आनंदपुर खालसा फोर्स (AKF) बनाने की तैयारी कर ली थी। उनके घर और साथियों से बरामद हथियारों पर AKF लिखा मिला है। अमृतसर रूरल के SSP सतिंदर सिंह ने कहा कि अमृतपाल के एक करीबी से 100 से ज्यादा अवैध कारतूस मिले। पूछताछ में उसने बताया कि अमृतपाल ने उसे ये कारतूस दिलाए थे।

अमृतपाल समेत 8 पर आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज
अमृतसर पुलिस ने वारिस पंजाब दे के प्रमुख अमृतपाल और उनके 7 साथियों पर आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। शनिवार को अमृतपाल के 7 साथियों को जालंधर के मैहतपुर से पकड़ा था। इनमें गुरलाल सिंह, सवरीत सिंह, अमनदीप सिंह, हरमिंदर सिंह, बलजिंदर सिंह, गुरवीर सिंह और अजयपाल सिंह शामिल है। पुलिस को इनके पास 12 बोर की 6 राइफल और 193 कारतूस मिले थे। ये सभी अवैध हथियार हैं। इनका कोई लाइसेंस नहीं है।

अमृतपाल पर NSA लगाया जा सकता है, फाइनेंसर गिरफ्तार
अमृतपाल की गिरफ्तारी की सूचना शनिवार दोपहर में आई थी मगर देर रात पुलिस ने बताया कि वह फरार हैं। उनकी गाड़ी नकोदर में खड़ी मिली। सूत्रों के मुताबिक अमृतपाल का मोबाइल फोन भी इसी गाड़ी में मिला। सूत्रों के मुताबिक, उन पर NSA लगाया जा सकता है।

अमृतपाल के फाइनेंसर दलजीत सिंह कलसी को अरेस्ट कर लिया गया है। वह एक्टर और प्रोड्यूसर है। पुलिस अब तक ‘वारिस पंजाब दे’ से जुड़े 100 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। 8 राइफलें और रिवॉल्वर भी बरामद की गई हैं। अमृतपाल को शनिवार को गिरफ्तार करने की कोशिश की गई थी।

मां बोली- पुलिस अमृतपाल को कहीं ले गई
अमृतपाल सिंह की मां बलविंदर कौर का एक वीडियो सामने आया है। जिसमें उन्होंने कहा कि अमृतपाल सिंह को जालंधर के शाहकोट थाने से पुलिस कहीं ले गई है। यह वीडियो पहले अपलोड हुआ था, लेकिन पुलिस ने उसे डिलीट करवा दिया। अमृतपाल को ढूंढने के लिए पूरी संगत शाहकोट पहुंचे। पता करो कि अमृतपाल सिंह अब कहां है। अमृतपाल के परिवार ने लोगों से इकट्‌ठा होकर शाहकोट थाने का घेराव करने को कहा है।

अमृतपाल के पिता को आशंका- कुछ गलत ना हो जाए
अमृतपाल के पिता ने बताया- पुलिस के अधिकारी बेटे को आत्मसमर्पण करने के लिए कह रहे हैं। आशंका है कि कहीं पुलिस अमृतपाल के साथ कुछ गलत न कर दे। अमृतपाल ने क्या गुनाह किया है, वह तो युवाओं का नशा छुड़वा रहा है।

जालंधर में पुलिस ने घेरा था, अमृतपाल को पकड़ नहीं पाए
अमृतपाल जालंधर और बठिंडा में प्रोग्राम थे। जालंधर के मैहतपुर में वह प्रोग्राम में जा रहे थे कि पुलिस ने उन्हें पकड़ने के लिए घेराबंदी शुरू कर दी। अमृतपाल का काफिला मैहतपुर के पास पहुंचा तो पुलिस ने घेरा डाल लिया। काफिले में आगे चल रही 2 गाड़ियों में सवार 7 लोग पकड़ लिए गए।

अमृतपाल की कार काफिले में तीसरे नंबर पर थी। पुलिस को देखकर अमृतपाल का ड्राइवर गाड़ी को लिंक रोड पर ले गया। इसके बाद वारिस पंजाब दे संगठन के प्रमुख को पकड़ने के लिए पुलिस की गाड़ियां पीछे लगी। इस बीच अमृतपाल की गाड़ी नकोदर में खड़ी मिली।

error: Content is protected !!